क्या निजी फाइनेंस कपनियों की क़िस्त मज़बूरी में समय पर नही भर पाने की सजा मौत है ?

तीन दिन पहले दैनिक भास्कर में छपी खबर के अनुसार कर्ज के बोझ सें थम गई सासें:लाेन की रिकवरी के लिए आने लगी धमकियां, ससुराल से भी पैसा मांगा, कहीं…