St Xavier’s School Jaipur: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से सम्मानित एनसीसी टीचर ने छात्राओं को अश्लील मेसेज भेजे ,बाल योग ने लिया संज्ञान

सेंट जेवियर्स स्कूल के एनसीसी टीचर को छात्राओं से इंस्ट्राग्राम पर अश्लील कमेंट्स करने पर बाल आयोग ने प्रसंज्ञान लिया है। बाल आयोग ने 7 दिन में पूरे मामले की जांच कर प्रोग्रेस रिपोर्ट देने का नोटिस जारी किया है। वहीं, छात्राओं को अश्लील मैसेज भेजने पर सेंट जेवियर्स स्कूल प्रबंधन ने टीचर निखिल जोस को सस्पेंड कर दिया है। प्रबंधन ने तीन सदस्यों की कमेटी जांच के लिए बनाई है। निखिल जोस को सीएम ने भी सम्मानित किया था। पुलिस ने निखिल जोस के मोबाइल की जांच की तो पता लगा कि वह पिछले 6 महीने से छात्राओं को अश्लील कमेंट्स और मैसेज भेज रहा था।

मुख्यमंत्री ने किया गया था सम्मानित।

राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग के सचिव महेंद्र प्रताप सिंह ने नोटिस में कहा कि शिक्षक निखिल जोस पूर्व छात्राओं को इंस्टाग्राम पर अश्लील मैसेज भेज रहा था। उन्हें बाहर मिलने और होटल में चलकर शराब पीने के लिए कहता था। यह काफी गंभीर मामला है। पूरे मामले की नियमानुसार जांच कर दोषी के खिलाफ कार्रवाई करते हुए 7 दिन में रिपोर्ट दी जाए।

टीचर निखिल ने ऐसे कमेंट्स छात्राओं को भेजे

निखिल ने पहले आईडी के पासवर्ड़ बदले
अशोक नगर थानाधिकारी सुरेंद्र सैनी ने बताया कि सेंट जेवियर्स स्कूल के टीचर निखिल जोस का मोबाइल जब्त किया गया है। उन्होंने बताया कि टीचर के नाम से इंस्टाग्राम पर आईडी बनी हुई है। उसकी आईडी से ही स्कूल की पूर्व छात्राओं को अश्लील मैसेज भेजे गए हैं। उसके मोबाइल को फॉरेंसिक जांच के लिए भिजवाया जाएगा। निखिल ने स्क्रीन शॉट वायरल होने पर आई़डी के पासवर्ड बदल दिए थे। प्रारंभिक जांच में पुलिस का कहना है कि आईडी हैक होने जैसी अभी तक कोई बात नहीं दिखी है।

टीचर निखिल छात्राओं को रात को अश्लील मैसेज करता था

वॉट्सऐप ग्रुप से छात्राओं के नंबर लिए
पुलिस ने निखिल जोस के मोबाइल की जांच की तो पता लगा कि वह पिछले 6 महीने से छात्राओं को अश्लील कमेंट्स और मैसेज भेज रहा था। छात्राओं को स्कूल से बाहर मिलने और होटल में शराब पीने के लिए दबाव बना रहा था। वह सी-स्कीम में सेंट जेवियर्स स्कूल में एनसीसी टीचर था। स्कूल में ऑनलाइन क्लास के लिए के वॉट्सऐप ग्रुप बनाए गए थे। टीचर ने ग्रुप से ही छात्राओं के नंबर ले लिए। उन्हें प्राइवेट चैटिंग करने लगा। बताया जा रहा है कि स्कूल प्रबंधन को छात्राओं की ओर से शिकायत दी गई थी, लेकिन अब स्कूल प्रबंधन ने पूरे मामले में कोई जानकारी नहीं होने की बात कही है।

निखिल छात्राओं को मैसेज कर बाहर मिलने के लिए बुलाता था

होमवर्क के बहाने स्कूल के बाहर मिलने बुलाता
निखिल जोस रात को 10 बजे के आसपास छात्राओं को मैसेज करता था। शुरुआत में तो छात्राओं ने रिस्पॉन्स नहीं दिया। बाद में टीचर अश्लील हरकतें और शराब पीने के लिए होटल में मिलने के ऑफर करने लगा। उन्हें स्कूल से बाहर मिलने और होमवर्क के बहाने मिलने के लिए बुलाता था। इतना ही नहीं वे स्कूल की टीचर से सेटिंग कराने के लिए बोलता था। छात्राएं परेशान होने लगी थीं।

टीचर निखिल ने एक छात्रा पर मिलने के लिए काफी दबाव बनाया। छात्रा ने उससे मिलने के लिए मना कर दिया। तब उसके वॉट्सऐप से डीपी लेकर वायरल करने लगा। उसे बदनाम करने की धमकी देने लगा। उसने कई छात्राओं के फोटो स्क्रीन शॉट लेकर सोशल मीडिया पर शेयर कर दिए। छात्राओं के नाम लिखकर उन्हें मैसेज करने लगा था।

छात्राओं ने कैंपेन शुरू कर टीचर की गंदी हरकतों के बारे में बताया

ऐसे चलाया कैंपेन
स्कूल से पासआउट हो चुकी 12वीं कक्षा के छात्राओं ने टीचर को सबक सिखाने की बात ठानी। वे एकजुट हो गईं और उन्होंने कैंपेन शुरू कर दिया। उन्होंने सोशल मीडिया पर ही टीचर की करतूत बतानी शुरू कर दी। स्कूल में भी कैंपेन चलाकर टीचर का विरोध शुरू कर दिया। उसके पेज को टैग का शेम ऑन यू लिखकर विरोध जताया। स्कूल के एक छात्र ने 27 मिनट 31 सैकंड का एक लाइव वीडियो भी इंस्टाग्राम पर अपलोड किया था, जिसमें टीचर के खिलाफ काफी छात्राओं से अश्लील हरकतें करने का दावा किया है। एक एनजीओ की मदद से अशोक नगर थाने को शिकायत दी गई। तब पुलिस ने उसे आईटी एक्ट में गिरफ्तार कर लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *