राजस्थान : हनुमानगढ़ के प्रेमपुरा गांव में एक दलित युवक की पीट पीट कर हत्या ,केन्द्रीय मंत्री शेखावत ने कहा- प्रिय गहलोत जी का नहीं! आप राजस्थान के प्रेमपुरा में इस दलित युवक की हत्या पर कुछ कहने की हिम्मत दिखाएं, ताकि जनता को मालूम हो कि आप कितने सच्चे हैं?

हनुमानगढ़ के प्रेमपुरा गांव में एक युवक की पीट-पीटकर हत्या के मामले में केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने राहुल गांधी पर तंज कसा है। शेखावत ने ट्वीट कर कहा कि राहुल जी आप लखीमपुर की चिंता न करें। वहां योगी जी का शासन है। आपके प्रिय गहलोत जी का नहीं! आप राजस्थान के प्रेमपुरा में इस दलित युवक की हत्या पर कुछ कहने की हिम्मत दिखाएं, ताकि जनता को मालूम हो कि आप कितने सच्चे हैं? शेखावत जगदीश नाम के जिस युवक को दलित बता रहे हैं, वह चुनाई मिस्त्री का काम करता था।

यह घटना 7 अक्टूबर की है। यहां कुछ युवकों ने जगदीश को लाठियों से बुरी तरह पीटा। उसे जमीन पर पटककर एक ने घुटने से गर्दन दबाई और बाकी पीटते रहे। बीच-बीच में उसे पानी भी पिलाते रहे। इस दौरान 3 युवक इस घटना का वीडियो बना रहे थे। हत्या के बाद वे जगदीश का शव उसके घर के बाहर फेंककर चले गए। हनुमानगढ़ पुलिस के मुताबिक, जगदीश की हत्या प्रेम प्रसंग में की गई है।

वीडियो के बाद हरकत में आई पुलिस
घटना का वीडियो वायरल हुआ तो पुलिस हरकत में आई और 11 लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया। वीडियो में साफ दिख रहा है कि जगदीश को किस बेरहमी से मारा गया। गुस्साए परिवार ने 2 दिन तक शव का पोस्टमॉर्टम नहीं कराया। उनका आरोप है कि वीडियो में आरोपियों के चेहरे साफ दिख रहे हैं, फिर भी पुलिस ने गिरफ्तारी नहीं की। इसके लिए परिजनों को शनिवार को आंदोलन करना पड़ा। दबाव बढ़ा तब पुलिस ने 3 आरोपियों को हिरासत में लिया है।

परिवार ने दो दिन बाद धरना खत्म किया
एसडीएम रंजीत कुमार ने बताया कि प्रेमपुरा हत्याकांड मामले में शनिवार दोपहर बाद जगदीश के परिजनों से प्रशासन की बातचीत हुई। जगदीश के हत्यारों और उसकी हत्या करने की साजिश में शामिल आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी करवाने, मामले की निष्पक्ष जांच और पीड़ित परिवार को आर्थिक मदद देने की मांग रखी गई। तीनों मांगों पर सहमति बनने पर पीड़ित परिवार शव ले जाने को तैयार हुआ।

तीन आरोपी हिरासत में
पीलीबंगा थाना प्रभारी इंद्रकुमार ने बताया कि अब तक इस हत्याकांड के मुख्य आरोपी मुकेश, ओमप्रकाश उर्फ शिवप्रकाश और हंसराज को हिरासत में लिया गया है। ये सभी प्रेमपुरा के रहने वाले हैं। फरार आरोपियों की धरपकड़ के लिए दो टीमें गठित की गई हैं।

फरार आरोपियों को पकड़ने के लिए उनके परिजनों को भी हिरासत में लिया है। जल्द ही सभी आरोपियों की गिरफ्तार कर लिया जाएगा। विनोद, मुकेश, लालचंद उर्फ रामेश्वर, सिकंदर, दलीप ओड, गंगाराम, महेंद्र, इंद्राज, ओमप्रकाश उर्फ नेन्हो, सुमन, हंसराज ओड के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *