Afghanistan: आंखों के सामने से 21 साल की बेटी को उठा ले गए तालिबानी

काबुल: तालिबान (Taliban) की वापसी के बाद अफगानिस्तान (Afghanistan) में महिलाओं और लड़कियों की जिंदगी नरक से बदतर हो गई है. तालिबानी आतंकी घर-घर जाकर 15 साल से बड़ी लड़कियों को जबरन उठाकर उनसे शादी कर रहे हैं. इतना ही नहीं कई लड़कियों को दूसरे देशों में बेचा भी गया है. हाल ही में तालिबानी बदख्शां प्रांत के एक गांव (Village of Badakhshan) पहुंचे और पिता की आंखों के सामने उसकी बेटी को अपने साथ ले गए. मजबूर पिता ने बेटी को बचाने की लाख कोशिश की, लेकिन सफल नहीं हो सका.

Journalist को सुनाई खौफनाक दास्तां

‘द सन’ ने पत्रकार होली मैके (Hollie McKay) के हवाले से बताया है कि तालिबानी लड़ाके (Taliban Fighters) घर-घर जाकर अपने लिए दुल्हन (Brides) खोज रहे हैं. उन्हें जो लड़की पसंद आ जाती है, उसे अपने साथ ले जाते हैं. युवा अफगानी फरीहा ईजर (Fariha Easer) की एक दोस्त के साथ भी यही हुआ. फरीहा ने पत्रकार मैके को बताया कि कुछ आतंकी बदख्शां प्रांत में रहने वाली उसकी दोस्त के घर पहुंचे और उसे जबरन अपने साथ ले गए.

District Governor से नहीं मिली मदद

आतंकियों ने लड़की के पिता से कहा कि वो इस्लाम के रक्षक हैं और उन्हें पत्नी के रूप में उनकी लड़की चाहिए. तालिबानियों ने यह भी कहा कि उनका एक साथी मुल्ला है, इसलिए वो शादी के लिए तुरंत अपनी लड़की सौंप दें. घबराए पिता ने डिस्ट्रिक्ट गवर्नर से मदद की गुहार लगाई, लेकिन निराशा हाथ लगी. पिता से कहा गया कि जो करना है, वो खुद करें. इसके बाद तालिबानी मजबूर पिता की 21 वर्षीय लड़की को अपने साथ ले गए.

दूसरी Daughter को लेकर गायब हुआ पिता

इस घटना के बाद पिता अपनी दूसरी बेटी को लेकर कहीं गायब हो गया. फरीहा ईजर को अब नहीं पता कि उनकी दोस्त और उसका परिवार कहां है. काबुल पर कब्जे के साथ ही तालिबान के लड़ाके बेकाबू हो गए हैं. उन्हें जो महिला पसंद आती है, उसे उठाकर अपने साथ ले जाते हैं. पिछले कुछ दिनों में ही इस तरह की कई घटनाएं सामने आ चुकी हैं. अपने पिछले शासन में भी आतंकियों ने महिलाओं पर जमकर जुल्म किया था और इस बार भी उनके इरादे वही हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *