राज कुंद्रा केसः मुंबई सेशन कोर्ट ने खारिज की शर्लिन चोपड़ा की अग्रिम जमानत याचिका

मुंबई सेशन कोर्ट ने गुरुवार को राज कुंद्रा पोर्न रैकेट मामले में शर्लिन चोपड़ा को अग्रिम जमानत देने से इनकार कर दिया है। बता दें कि बॉम्बे हाई कोर्ट द्वारा मंगलवार को शर्लिन चोपड़ा और एक अन्य एक्ट्रेस पूनम पांडे की अग्रिम जमानत अर्जी स्वीकार करने के बाद ये सामने आया है।

दोनों को मुंबई क्राइम ब्रांच ने कथित पोर्न फिल्म रैकेट के सिलसिले में तलब किया था। क्राइम ब्रांच ने शर्लिन चोपड़ा को मामले में एक आरोपी के रूप में नामित किए जाने के बाद मंगलवार सुबह 11 बजे अपना बयान दर्ज करने के लिए समन भेजा था।

शर्लिन चोपड़ा और पूनम पांडे दोनों ने कहा कि ‘कुंद्रा ने उन्हें ए-रेटेड फिल्मों की शूटिंग करने के लिए मजबूर किया था’। पूनम पांडे ने खुलासा किया कि ‘वह रैकेट का खुलासा होने से बहुत पहले 2019 में उनके खिलाफ मामला दर्ज करने वाली पहली शख्स में से एक थीं’।

बता दें कि पोर्न रैकेट के मुख्य आरोपी राज कुंद्रा ने अग्रिम जमानत के लिए गुरुवार को सेशन कोर्ट का रुख किया था। कुंद्रा ने इससे पहले बॉम्बे हाई कोर्ट में जमानत याचिका दायर की थी। जांच के बीच राज कुंद्रा मुंबई की आर्थर रोड जेल, भायखला में 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में है।

क्या है राज कुंद्रा पोर्न केस?

एक्ट्रेस शिल्पा शेट्टी के पति और कारोबारी राज कुंद्रा को 19 जुलाई की रात को मुंबई पुलिस द्वारा एक अश्लील सामग्री संचलन रैकेट में गिरफ्तार किया गया था। अगले दिन मुंबई पुलिस ने खुलासा किया कि “वह संघर्षरत मॉडल और कलाकारों को शॉर्ट फिल्मों और वेब सीरीज में रोल दिलाने का लालच देते थे और फिर उनसे उनकी इच्छा के खिलाफ सेमी-न्यूड और न्यूड सीन शूट कराते थे।”

मुंबई पुलिस ने पाया कि ‘साइबर दुनिया में पोर्न प्रसारित करने के लिए हॉटशॉट्स ऐप सहित विभिन्न मोबाइल एप्लिकेशन चलाए जा रहे थे। हॉटशॉट्स ऐप का स्वामित्व लंदन स्थित केर्निन नामक फर्म के पास है, लेकिन इसके सारे कंटेंट को प्रोड्यूस किया जा रहा था और अकाउंट को मुंबई में वियान कंपनी द्वारा नियंत्रित किया जा रहा था, जिसका स्वामित्व राज कुंद्रा के पास था’।

जांच के दौरान, पुलिस को दस्तावेजी और इलेक्ट्रॉनिक सबूत मिले हैं जिसके कारण राज कुंद्रा के ऑफिस की तलाशी ली गई, जहां पुलिस ने और भी आपत्तिजनक सामग्री बरामद की है। इसके बाद, राज की गिरफ्तारी हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *