जयपुर: सात साल की बच्ची से हैवानियत करने वाला दरिंदे को पुलिस ने पकड़ा

जयपुर एक बार फिर से शर्मसार हुआ है। ब्रह्मपुरी में 7 साल की बच्ची के साथ रेप किए जाने का मामला सामने आया है। जयपुर पुलिस ने दरिंदे को अजमेर से गिरफ्तार कर लिया है। यह वारदात 27 जून को जयसिंहपुरा खोर में हुई थी। ब्रह्मपुरी थानाधिकारी भारत सिंह राठौड़ ने बताया कि दुष्कर्म के आरोपी 19 साल के सूरज बैरवा पुत्र किशनलाल को गिरफ्तार कर लिया गया है। वह सवाईमाधोपुर जिले में वजीरपुर के महानंदपुर डोढ़या का रहने वाला है। वह काफी दिनों से जयपुर में किराए के मकान में रहकर मजदूरी करता है। एक ही मकान में काफी परिवार किराए पर कमरे लेकर रहते हैं।

7 साल की बच्ची और उसकी छोटी बहन कमरे में अकेली थी। मां मजदूरी करने गई थी और पिता गांव गया था। तब वह बच्ची को अपने कमरे में पीछे ले गया। उसके कपड़े उतार दिए। दरिंदे ने गाल और सीने पर दांतों से काट लिया। उसके साथ कमरे में ही रेप किया। बच्ची रोते हुए अपने कमरे में चली गई। शाम को बच्ची की मां घर पहुंची तो गाल पर निशान देखें। तब बच्ची ने पूरी बात बताई। इसके बाद मां सूरज के पास गई। सूरज से झगड़ा भी हुआ। बच्ची के पिता के गांव से आने पर मां ने पूरी बात कही। इसके बाद मामला थाने तक पहुंचा। उधर, इसकी भनक लगते ही सूरज फरार हो गया।
दुष्कर्म के बाद हैदराबाद पहुंचा, तीन राज्यों में दौड़ी पुलिस
7 साल की बच्ची से दुष्कर्म की रिपोर्ट मिलने पर पुलिस भी सकते में आ गई। मकान पर पहुंची तो सूरज नहीं मिला। उसने मोबाइल भी बंद कर लिया। कोई लोकेशन भी नहीं मिल रही थी। अलग-अलग पांच टीमें बनाई गईं। उसके मामा काे पुलिस ने पकड़ा। एक टीम उसके गांव भेजी गई। वहां से भाग गया था। वह हैदराबाद पहुंच गया। उसके बाद वहां से भी भाग निकला।

ट्रेनों पर पुलिस की रही नजर

पुलिस की दो टीमें स्टेशन पर ट्रेनों में नजर रख रही थी। वह झांसी से होते हुए ग्वालियर पहुंचा। इसके बाद उत्तर प्रदेश में आगरा पहुंच गया। पुलिस की टीमें भी स्टेशनों पर उसकी तलाश कर रही थी। पुलिस को उसके अजमेर में आने की जानकारी मिली। तब एक टीम को किशनगढ़ भेजा और दूसरी टीम अजमेर में नजर रखी हुई थी। जैसे ही ट्रेन रुकी तो पुलिस की टीमें जांच करने लगीं। वह ट्रेन में ही पकड़ा गया। पुलिस उसे जयपुर लेकर पहुंची। तीन राज्यों में पुलिस की टीमों ने लगातार ट्रेनों और घरों में दबिश दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *