प्रदेश को मिली सौगात:रामगढ़ चौथा टाइगर रिजर्व, एनटीसीए ने दी मंजूरी, जल्द छोड़ेंगे बाघ

प्रदेश के लिए अच्छी खबर है कि रामगढ़ वाइल्ड लाइफ सेंचुरी को चौथे टाइगर रिजर्व के तौर पर एनटीसीए ने मंजूरी दे दी है। चीफ वाइल्ड लाइफ वार्डन मोहनलाल मीणा ने मुख्यमंत्री की बजट घोषणा के मुताबिक पिछले दिनों इसके प्रस्ताव तैयार किए थे।

इसके बाद राज्य सरकार ने इन्हें एनटीसीए को भेजा था। इस पर सोमवार को हुई एनटीसीए की तकनीकी कमेटी के साथ बैठक में यह मंजूरी मिली। अब नोटिफिकेशन के बाद ट्रांसलोकेशन की तैयारियां पूरी कर बाघ छोड़े जा सकेंगे। राजस्थान में अभी रणथंभौर, सरिस्का और मुकंदरा तीन टाइगर रिजर्व हैं। पिछले दिनों में यहां तेजी से शावकों की संख्या बढ़ी है।

मुकंदरा में भरतपुर से 500 चीतल छोड़ने पर भी सहमति

बैठक में रामगढ़ टाइगर रिजर्व के साथ दो और मसले थे। इनमें मुकंदरा में टाइगर शिफ्टिंग के मामले में एनटीसीए ने खुद विजिट कर पहले हालात देखने की बात कही। हां, फिलहाल भरतपुर से मुकंदरा में 500 चीतल छोड़ने की सहमति जरूर दे दी।

वहीं, खास के बजाए आम लोगों के लिए भी टाइगर रिजर्व खोलने की मांग तेज हो गई है। अभी फिल्म शूटिंग से अलग टाइगर रिजर्व बंद किए हैं, जिन्हें खोलने की मांग हो रही है। रिद्धी को सरिस्का शिफ्ट करने का मामला भी पेंडिंग पड़ा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *