यूपी के इटावा में चौंका देने वाली घटना: दुल्हन की मंडप में हार्ट अटैक से मौत ,छोटी बहन से कराई शादी

इटावा (यूपी): बरात आई. खूब स्वागत सत्कार हुआ. शादी की रस्में हुईं. दूल्हा दुल्हन ने एक दूसरे को स्टेज पर जयमाला पहनाई. दुल्हन की मांग भरी जा चुकी थी. रात के करीब ढाई बजे मंडप में सात फेरों की तैयारी चल रही थी. दुल्हन मंडप में थी, तभी अचानक दुल्हन बेहोश हुई और मंडप में ही तोड़ दिया. इस घटना से हाहाकार मच गया. दुल्हन की मंडप में हार्ट अटैक से मौत हो गई. इस बेहद अकल्पनीय हादसे से अचानक मातम छा गया.

मामला उत्तर प्रदेश के इटावा जिले का है. इटावा के भरथना इलाके के गाँव समसपुर की इस घटना ने सभी को दंग कर दिया. दुल्हन की मौत के बाद भी शादी कराई गई. कुछ ही घंटों में मृत दुल्हन की छोटी बहन से दूल्हे के सात फेरे करा दिए गए. इस बीच मृत दुल्हन का शव घर में ही रखा रहा. बेहद गम के बीच मृत दुल्हन की छोटी बहन को दूल्हे के साथ विदा कर दिया गया. 

मामला उत्तर प्रदेश के इटावा जिले का है. इटावा के भरथना इलाके के गाँव समसपुर की इस घटना ने सभी को दंग कर दिया. दुल्हन की मौत के बाद भी शादी कराई गई. कुछ ही घंटों में मृत दुल्हन की छोटी बहन से दूल्हे के सात फेरे करा दिए गए. इस बीच मृत दुल्हन का शव घर में ही रखा रहा. बेहद गम के बीच मृत दुल्हन की छोटी बहन को दूल्हे के साथ विदा कर दिया गया. 

सात फेरों के लिए कन्या-वर दोनों पक्षों द्वारा तैयारी की ही जा रही थी. दुल्हन मंडप में थी तभी रात्रि करीब ढाई बजे दुल्हन अचानक बेहोश हो गई. हालत बिगड़ती देख दुल्हन को गांव में स्थित निजी चिकित्सक को दिखाया गया, लेकिन दुल्हन यहाँ तक भी सही सलामत न पहुँच सकी. चिकित्सकों के अनुसार, दुल्हन की हार्ट अटैक से मौत हो गई. खुशी के मौके पर दुल्हन की अचानक मौत से हाहाकार मच गया. सात फेरों से ठीक पहले दुल्हन की मौत ने सभी को झकझोर दिया.

घर में दुल्हन का शव रखा रहा, छोटी बहन से दूल्हे की कराई गई शादी
दुल्हन की मौत के कुछ ही देर में दोनों पक्षों में सहमति बनी कि दुल्हन की छोटी बहन निशा के साथ जल्दी से शादी की रस्मों को करा दिया जाए. सहमति के बाद मृत दुल्हन की बहन दुल्हन बनी. बहन जो कुछ देर पहले तक दूल्हे को जीजा कह रही थी उससे आनन फानन में उसकी शादी हो गई.

बहन निशा से सात फेरों के बीच मृतक दुल्हन सुरभि का शव घर में ही रखा रहा. निशा को किसी तरह विदा कर दिया गया, इसके बाद सुबह सुरभि का अंतिम संस्कार किया गया.

दूल्हा के ताऊ अजब सिंह व दुल्हन के परिजन महेश चन्द्र ने बताया कि वैवाहिक कार्यक्रम विधिवत हिन्दू रीति रिवाज के साथ सम्पन्न हो रहा था. बारात स्वागत, बारात भ्रमण, जयमाला, दावत, गोद भराई, माँग भराई सहित कई रस्में हो चुकी थी. सात फेरों से पहले अचानक दुल्हन की तबियत बिगड़ी और कुछ ही मिनट में दुल्हन की मौत हो गई.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *