कोरोना टेस्टिंग के लिए बनी होम किट, एंटीजेन टेस्टिंग किट को ICMR ने दी मंजूरी

नई दिल्ली: कोरोना के खिलाफ चल रही जंग में एक नया हथियार मिलने वाला है. जी हां, कोरोना की टेस्टिंग के लिए अब परेशान होने की जरूरत नहीं रहेगी, क्योंकि घर पर ही आप खुद अपनी टेस्टिंग कर सकेंगे. इस होम बेस्ड टेस्टिंग किट को आईसीएमआर ने मंजूरी भी दे दी है.

एंटीजेन टेस्टिंग किट को मिली मंजूरी

आईसीएमआर ने जिस किट को मंजूरी दी है, वो रैपिड एंटीजन टेस्टिंग किट है. इस किट के जरिए लोग घर मे ही नाक के जरिए कोरोना जांच के लिए सैंपल ले सकेंगे. अभी होम टेस्टिंग सिर्फ सिम्प्टोमेटिक मरीजों के लिए है, इसके अलावा जो लोग कन्फर्म केस के सीधे संपर्क में आए हों. वो भी टेस्टिंग किट का इस्तेमाल कर सकेंगे.

आईसीएमआर ने जारी की एडवायजरी

जानकारी के मुताबिक होम टेस्टिंग किट बनाने वाली कम्पनी द्वारा दिए गए मैनुअल का पालन करना होगा. इसके लिए गूगल प्ले स्टोर और ऐपल स्टोर से मोबाइल ऐप डाउनलोड करना होगा. इसी ऐप के ज़रिए पॉजिटिव और निगेटिव रिपोर्ट मिलेगी. जो लोग होम टेस्टिंग करेंगे उन्हें टेस्ट strip पिक्चर खींचना पड़ेगा और उसी फोन से तस्वीर लेनी होगी जिसपर मोबाइल ऐप डाउनलोड होगा. मोबाइल फोन का डाटा सीधे ICMR के टेस्टिंग पोर्टल पर स्टोर हो जाएगा. इस टेस्ट के जरिए जिनकी पॉजिटिव रिपोर्ट आएगी उन्हें पॉजिटिव माना जायेगा और किसी टेस्ट की जरूरत नहीं पड़ेगी.

इन नियमों को मानना आवश्यक

गाइडलाइन के मुताबिक, जो लोग पॉजिटिव होंगे उन्हें होम आइसोलेशन को लेकर ICMR और हेल्थ मिनिस्ट्री की गाइडलाइन को मानना होगा. लक्षण वाले जिन मरीजों का रिजल्ट निगेटिव आएगा, उनको RTPCR टेस्ट कराने की जरूरत होगी. हालांकि इस दौरान लोगों की पहचान को सार्वजनिक नहीं किया जाएगा. सभी रैपिड एंटीजन निगेटिव सिम्प्टोमेटिक लोगों को सस्पेक्टेड कोविड केस माना जायेगा और जब तक RTPCR टेस्ट का रिजल्ट नहीं आ जाता, तब तक उन्हें होम आईसोलेशन में रहना होगा. 

पुणे की कंपनी ने बनाया है किट

होम आइसोलेशन टेस्टिंग किट के लिए MY LAB DISCOVERY SOLUTION LTD पुणे की कंपनी को अनुमति दी गई है. इस किट का नाम COVISELF (Pathocatch) है. इस किट के जरिए लोगों को नेजल स्वैब लेना होगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *