Bijapur Naxal Attack: तलाशी अभियान जारी, गृह मंत्री Amit Shah बोले- खून-खराबा बर्दाश्त नहीं, मुंहतोड़ जवाब देंगे

नई दिल्ली: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने नक्सलियों के हमले (Naxal Attack) में 22 जवानों के शहीद होने की घटना पर सख्त रुख अपनाते हुए नक्सलियों को मुंहतोड़ जवाब देने की बात कही. साथ ही, उन्होंने कहा कि उग्रवादियों के खिलाफ लड़ाई केन्द्र और राज्य सरकारों के सम्मलित प्रयासों से जीती जाएगी. शाह ने नक्सलियों के हमले के बाद पैदा हुए हालात की उच्च सुरक्षा अधिकारियों के साथ समीक्षा की.

तलाशी अभियान जारी

असम में चुनावी दौरे को बीच में ही छोड़कर दिल्ली लौटे केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने कहा, ‘हमारे जवानों ने शहादत दी है. हम इस खून-खराबे को बर्दाश्त नहीं करेंगे और उचित वक्त आने पर मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा.’ शाह ने कहा कि मुठभेड़ के बाद छत्तीसगढ़ में तलाश अभियान जारी है. उन्होंने कहा कि सरकार शांति और प्रगति के ऐसे दुश्मनों के खिलाफ अपनी लड़ाई जारी रखेगी. केन्द्रीय गृह मंत्री ने कहा, ‘नक्सलियों के साथ हमारी लड़ाई ताकत के साथ जारी रहेगी और हम इसे मुकाम तक पहुंचाएंगे.’

आपात हालात से निपटने के निर्देश 

शाह ने छत्तीसगढ़ में नक्सलियों के हमले (Chhattisgarh Naxalite Attacks) में सुरक्षा बल के 22 जवानों के शहीद होने की घटना के मद्देनजर राज्य में सुरक्षा हालात की समीक्षा के लिए रविवार को एक उच्च स्तरीय बैठक भी की. केन्द्रीय गृह सचिव अजय भल्ला, इंटेलिजेंस ब्यूरो के निदेशक अरविंद कुमार, गृह मंत्रालय और केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल  के वरिष्ठ अधिकारियों ने बैठक में हिस्सा लिया. एक अधिकारी ने बताया कि गृह मंत्री ने आपात हालात से निपटने के लिए जरूरी निर्देश दिए हैं. हमले में मारे गए पांच जवानों के शव शनिवार को वहीं 17 जवानों के शव रविवार को बरामद हुए.

‘सुरक्षाबलों का मनोबल ऊंचा’

इससे पहले गृह मंत्री अमित शाह ने केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) के महानिदेशक कुलदीप सिंह को स्थिति का जायजा लेने के लिए राज्य जाने को कहा और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से भी बात की. छत्तीसगढ़ सरकार के एक प्रवक्ता ने बताया कि बघेल ने शाह को मुठभेड़ की जानकारी देते हुए कहा कि नक्सलियों ने केवल अपनी मौजूदगी दिखाने के लिए हिंसा की है, क्योंकि लोगों का माओवादी विचारधारा से मोह भंग हो रहा है. प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री ने केंद्रीय गृह मंत्री से कहा कि सुरक्षाबलों का मनोबल ऊंचा है और वे इस लड़ाई में नक्सलियों के खिलाफ जीत हासिल करेंगे.

यह भी पढ़ें: Delhi: राजेंद्र नगर का आर्य कन्या विद्यालय बना कोरोना का हॉटस्पॉट

विकास से घबराए नक्सली

मुख्यमंत्री बघेल ने शाह से कहा कि राज्य सरकार ने दूरदराज के स्थानों पर स्वास्थ्य, शिक्षा एवं अन्य क्षेत्रों में जो विकास कार्य किया है, उसके कारण माओवादियों की विचारधारा से लोगों का मोह भंग हो गया है और इसी वजह से नक्सली अपनी मौजूदगी दिखाने के लिए इस प्रकार की हिंसक गतिविधियां कर रहे हैं. बघेल ने कहा कि राज्य सरकार हिंसा के इन कृत्यों से डरती नहीं है और उसने राज्य के हर हिस्से में विकास करने करने का संकल्प लिया है. इससे पहले, शाह ने ट्वीट किया, ‘मैं छत्तीसगढ़ में माओवादियों से लड़ते हुए शहीद हुए हमारे वीर सुरक्षाकर्मियों के बलिदान को नमन करता हूं. राष्ट्र उनके शौर्य को कभी नहीं भूलेगा.’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *