Jhalawar News: 3 स्कूली छात्रायें और 1 शिक्षका मिली कोरोना पॉजिटिव, जिला प्रशासन में मचा हड़कंप

झालावाड़. कोरोना काल में लंबे समय के बाद स्कूल खुलते ही कोरोना केस (Corona Case) में वृद्धि होती देखी जा रही है. प्रदेश के झालावाड़ जिले में 3 स्कूली छात्रायें और 1 शिक्षका कोरोना पॉजिटिव (Corona positive) पाई गई हैं. इसके बाद से समूचे चिकित्सा महकमे और जिला प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है. स्कूलें खुलने के बाद चिकित्सा विभाग ने स्कूलों रेंडमली सेम्पल लिये थे. इनमें चार केस पॉजिटिव पाये गये हैं.

मामले की जानकारी मिलते ही आनन-फानन में चिकित्सा विभाग के अधिकारी और टीमें स्कूलों में पहुंची और छात्राओं तथा स्टाफ को कोरोना गाइडलाइन की जानकारी देते हुए फिर से सैम्पलिंग शुरू करवाई. स्कूलों में कार्यरत स्टाफ और शिक्षिकाओं की भी सैम्पलिंग करवाई जा रही है. चिकित्सा विभाग के अधिकारी क्लास रूम में जाकर बच्चों को कोरोना गाइडलाइन की पालना के बारे में समझाइश कर रहे हैं.

चारों को होम क्वॉरेंटाइन किया गया है
जानकारी के अनुसार झालावाड़ जिले के झालरापाटन के सरकारी स्कूल की 2 छात्रायें और झालावाड़ के बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय की 1 छात्रा कोरोना पॉजिटिव पाई गई हैं. वहीं जिले के भवानीमंडी के एक सरकारी स्कूल की शिक्षिका भी कोरोना पॉजिटिव मिली हैं. इन सभी कोरोना संक्रमित छात्राओं और शिक्षिका को उनके घरों पर ही होम क्वॉरेंटाइन कर दिया गया है. इसके साथ ही उन्हें कोरोना गाइडलाइन की पालना के बारे में समझाकर दवाइयां दी गई हैं. पूरे मामले में झालावाड़ सीएमएचओ डॉ. साजिद खान ने अभिभावकों से बच्चों को कोरोना से जागरुक रखने और सतर्कता के साथ कोरोना गाइडलाइन की पालना करवाने की अपील की है.
18 जनवरी से स्कूलों में 9वीं से 12वीं तक की कक्षायें शुरू की गई थी

उल्लेखनीय है कि प्रदेश में पहले चरण में 18 जनवरी से स्कूलों में 9वीं से 12वीं तक की कक्षायें शुरू की गई थी. उसके बाद आज से छठी से आठवीं तक की कक्षायें शुरू की गई हैं. हालांकि स्कूल आने वाले स्टूडेंट्स से उनके अभिभावकों की स्वीकृति भी मांगी गई है. बिना अभिभावकों की स्वीकृति के स्कूलों में बच्चों को प्रवेश नहीं दिया जा रहा है. लेकिन इस बीच पॉजिटिव केस आने से अभिभावकों की चिंता बढ़ गई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *