453 Digital Lending Apps को गूगल ने हटाया

ऐसे Digital Lending Apps जो लोन के नाम पर मौत बांट रहे थे, Google ने बड़ी कार्रवाई करते हुए इन ऐप्स को अपने प्ले स्टोर से हटा दिया है. आप भी इन ऐप्स से बचिए. यहां पूरी लिस्ट दी जा रही है, जिन्हें प्ले स्टोर से हटाया गया है. ये एक बेहद गंभीर मामला है जिस पर रिजर्व बैंक ने भी चिंता जताई है. ऐसे ऐप्स पर गूगल की अबतक की सबसे बड़ी कार्रवाई है.

नई दिल्ली: Digital Lending Apps: Google ने बड़ी कार्रवाई करते हुए अब तक कुल 453 डिजिटल लेंडिंग एप्लिकेशन (Digital Lending Apps) को प्ले स्टोर से हटा दिया है. RBI ने इन कंपनियों के एप्लीकेशंस पर चिंता जताई थी. ये सभी ऐप्स पर्सनल लोन देने वाले ऐप हैं. इस कार्रवाई पर गूगल का कहना है कि ये ऐप उसकी ‘यूजर्स सेफ्टी पॉलिसी’ का उल्लंघन कर रहे हैं. Google ने इन ऐप्स से नियमों के उल्लंघन पर सफाई मांगी थी, लेकिन उनकी जवाब से गूगल संतुष्ट नहीं हुआ और इन ऐप्स को प्लेस स्टोर से हटा दिया. 

अबतक गूगल ने 117 ऐप्स Google Play Store से हटाए

Google ने कहा है कि ऐसे दूसरे ऐप्स से भी पूछा गया है कि वो ये बताएं कि उनका ऐप स्थानीय कानूनों के हिसाब से कैसे काम करता है. अगर उन्होंने इसका जवाब नहीं दिया तो इन ऐप्स को भी प्ले स्टोर से हटा दिया जाएगा. आपको बताएं कि पिछले 10 दिनों के भीतर ही गूगल ने 117 ऐप्स प्ले स्टोर से हटाए हैं.

RBI भी इन लेंडिंग ऐप्स को लेकर अलर्ट कर चुका है

गूगल ने कल एक ब्लॉगपोस्ट में कहा कि, हमारी वैश्विक उत्पाद नीतियां इसी लक्ष्य को ध्यान में रखकर डिजाइन और क्रियान्वित की गई हैं. गूगल के प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध उत्पादों का सुरक्षित अनुभव प्रदान करना हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है. हम उपभोक्ताओं की सुरक्षा में सुधार के लिए लगातार काम कर रहे हैं.’ Google ने यह भी कहा कि हाल ही में ऑनलाइन लोन देने वाले प्लेटफॉर्म/मोबाइल ऐप्स को लेकर शिकायतें आई थीं. पिछले महीने रिजर्व बैंक ने भी लोगों को अलर्ट किया था कि वे लोन देने वाले अनअथॉराइज्ड डिजिटल प्लेटफॉर्म और ऐप के झांसे में न आएं. 

‘नियमों का उल्लंघन कर रहे ऐप्स को तुरंत हटाया’

ब्लॉगपोस्ट में आगे कहा गया है कि, ‘हमने भारत में सैकड़ों की संख्या में डिजिटल लेंडिंग एप्लिकेशन की समीक्षा की जिन्हें लेकर उपभोक्ताओं और सरकारी एजेंसियों ने चिंता जताई थी. उपभोक्ता सुरक्षा नीति का उल्लंघन कर रही ऐप को प्ले स्टोर से तत्काल हटा दिया गया है.  गूगल इनकी जांच में सरकारी एजेंसियों की सहायता करेगा.’ हालांकि यह भी देखने को मिला कि पिछले कुछ दिनों में हटाए गए एप्लिकेशन दोबारा प्ले स्टोर पर देखे जा सकते हैं. जैसे कि CashBus को प्ले स्टोर से हटा दिया था, लेकिन यह ऐप दोबारा प्ले स्टोर पर है. 

यूजर के साथ पारदर्शिता बरतनी होगी

गूगल प्ले डेवलपर पॉलिसी का पालन करने के लिए ऐप्स को यूजर को लोन से जुड़ी हर जानकारी दें, गूगल केवल उन पर्सनल लोन ऐप्स को इजाजात देता है, जिसमें लोन लौटाने के लिए कम से कम 60 दिन का समय दिया गया हो. लोन के फीचर्स, फीस, रिस्क और बेनेफिट्स के बारे में पारदर्शिता होना चाहिए. गूगल ने साफ किया कि डेवलपर्स को सिर्फ उन्हीं कामों के लिए डेटा का उपयोग करना होगा जिसके लिए यूजर ने सहमति दी है. अगर इस डाटा का इस्तेमाल कहीं और किया गया तो इससे पहले यूजर से अलग से इजाजत लेनी होगी 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *