REET 2020 Exam में चेंज हुआ अंकों के वेटेज, जानिए क्या है नया पैटर्न

जयपुर: सरकार के दो साल पूरा होने पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) की ओर से प्रदेश के करीब 11 लाख बेरोजगारों को रीट अध्यापक पात्रता परीक्षा (Reet 2020 Exam) तिथि की घोषणा कर सौगात दी गई. 25 अप्रैल 2021 (Reet 2020 Exam Date) को आयोजित होने वाली इस परीक्षा को लेकर लगातार बेरोजगारों के लिए राहत का पिटारा खोला जा रहा है. पहले जहां विभिन्न वर्गों में उत्तीर्ण अंकों में 5 से 20 फीसदी तक राहत देने के आदेश जारी किए गए तो वहीं, अब रीट और स्नातक के अंकों में भी एक बड़ी राहत दी जा रही है.

रीट अध्यापक पात्रता परीक्षा में अब अंकों के वेटेज (Reet 2020 Marks Weightage) में भी बड़ी राहत दी गई है. रीट के अंतिम चयन में जहां 90 फीसदी अंकों का आधार रहेगा तो वहीं स्नातक के अंकों का आधार 10 फीसदी कर दिया गया है. पहले आयोजित हुई रीट परीक्षा में ये आधार रीट परीक्षा के 70 फीसदी और स्नातक के 30 फीसदी अंकों का आधार हुआ करता था. लम्बे समय से स्नातक के अंकों के आधार को कम करने की मांग की जा रही थी.

अंकों के निर्धारण को लेकर शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा (Govind Singh Dotasara) का कहना है कि .31 हजार पदों पर लेवल-1 और लेवल-2 की परीक्षा 25 अप्रैल को आयोजित होगी. नियमों में जो संशोधन करना था कर लिया है. कई वर्गों में उत्तीर्ण अंकों में राहत दी है, तो वहीं रीट के अंतिम सलेक्शन के पैटर्न में बदलाव किया गया है. जो अंतिम चयन होगा उसमें रीट के 90 फीसदी और स्नातक के 10 फीसदी के मार्क्स के आधार पर होगी. साथ ही एनसीईटी के सिलेबस के साथ ही राजस्थान की जानकारी को ज्यादा जोड़ने की तैयारी की जा रही है, जिससे शिक्षकों को राजस्थान के बारे में ज्यादा से ज्यादा जानकारी हो सके.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *