Rajasthan में CSGT Alwar ने 1300 करोड़ रुपये के फर्जीवाड़े को उजागर किया

जयपुर: सीजीएसटी एंटीएविजन टीम (CGST Antivision Team) ने अलवर (Alwar) में बड़ी कार्रवाई कर 1300 करोड़ रुपये के फर्जीवाड़े को उजागर किया है. फर्जी इनवॉयस के जरिए आरोपियों ने करोड़ों रुपये की हेरफेर की है. 

सीजीएसटी ने मामले में चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है. मास्टर माइंड  संजीव जैन, भास्कर जांगिड़, सुमित दत्ता से अधिकारी पूछताछ कर रहे हैं. छापों में 6 फर्जी फर्मों का भी खुलासा हुआ है. जब्त दस्तावेजों से कई अहम खुलासे हो सकते हैं.

मुख्य बिंदु

  • CGST एंटीएविजन की अलवर में छापे की बड़ी कार्रवाई
  • प्रदेश में टैक्स चोरी के सबसे बड़े रैकेट का सीजीएसटी ने किया पर्दाफाश
  • 1300 करोड़ के फर्जीवाड़े का सीजीएसटी अलवर ने किया खुलासा
  • फर्जी इनवॉइस के जरिए सरकार को लगाया अरबों रुपये का चूना
  • सीजीएसटी ने मामले में चार मास्टरमाइंड को किया गिरफ्तार
  • मास्टर माइंड संजीव जैन, भास्कर जांगिड़, सुमित दत्ता गिरफ्तार
  • सीजीएसटी ने दिल्ली, जयपुर, भिवाड़ी अलवर में मारे छापे
  • छापों में 6 फर्जी फर्म का हुआ खुलासा
  • फर्जी आयरन और स्टील की कंपनियों के जरिए किया फर्जीवाड़ा
  • सीजीएसटी की टीम ने बड़ी संख्या में दस्तावेज किए हैं जब्त
  • मैसर्स मोहित मेटल्स मै. वीटो मर्चेंटाइल्स, मेसर्स स्विसलाइन इंटरट्रेड कंपनियों के जरिए किया फर्जीवाड़ा
  • सीजीएसटी सभी आरोपियों से कर रही है पूछताछ
  • 210 करोड़ से ज्यादा के फर्जी आईटीसी क्लेम से सरकार को चुना

ऐसे हुआ रैकेट का भंडाफोड़
केंद्रीय वस्तु एवं सेवाकर की कर अपवंचना शाखा (Tax evasion branch) ने अलवर में छापेमारी कर इस पूरे रैकेट का भंडाफोड़ किया. गुप्त सूचना और तकनीकी मदद से हुई कार्रवाई प्रदेश की अब तक के बड़े एक्शन में शामिल मानी जा रही है. इस छापे से प्रदेश में टैक्स चोरी के सबसे बड़े रैकेट का सीजीएसटी ने पर्दाफाश किया है. 

फर्जी इनवॉइस के जरिए सरकार को अरबों रुपये का चूना लगाया
प्रारंभिक सूत्रों के अनुसार, 1300 करोड़ के फर्जीवाड़े का सीजीएसटी अलवर ने खुलासा किया है. आरोपियों ने फर्जी इनवॉइस के जरिए सरकार को अरबों रुपये का चूना लगाया है. सीजीएसटी ने मामले में चार मास्टरमाइंड संजीव जैन, भास्कर जांगिड़, सुमित दत्ता गिरफ्तार कर आर्थिक अपराध न्यायालय में पेश किया है. सीजीएसटी के छापों में 6 फर्जी फर्म का खुलासा हुआ. आरोपियों ने फर्जी आयरन और स्टील की कंपनियों के फर्जीवाड़ा किया. मौके पर सीजीएसटी की टीम ने बड़ी संख्या में दस्तावेज जब्त किए हैं, इनमें फर्जी बिल बुक, ईवे बिल, फर्जी कंपनियों से जुड़े कागजात शामिल हैं. 

सीजीएसटी संयुक्त आयुक्त कुलदीप सिंह की टीम ने किया खुलासा
आरोपियों ने मैसर्स मोहित मेटल्स, मैसर्स वीटो मर्चेंटाइल्स, मेसर्स स्विसलाइन इंटरट्रेड कंपनियों के जरिए फर्जीवाड़ा किया है. जब्त दस्तावेजों के आंकलन के आधार पर 210 करोड़ से ज्यादा के फर्जी आईटीसी क्लेम से की जानकारी सामने आई है. सीजीएसटी संयुक्त आयुक्त कुलदीप सिंह की टीम ने इस पूरे मामले का खुलासा किया है. सीजीएसटी प्रधान आयुक्त सीपी गोयल के निर्देश पर हुई कार्रवाई में कई अहम खुलासे हो सकते हैं. आने वाले दिनों में जब्त दस्तावेजों के आधार पर लाभ लेने वली अन्य इकाइयों पर भी कार्रवाई हो सकती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *