आखिर सरकार द्वारा CASHBEAN (P C Financial Services) पर कोई सख्त कार्रवाई क्यों नहीं की गई?

CASHBEAN (P C Financial Services Private Limited) यह एक ऐसा नाम बन चूका है कि लोग इसे सुनते है तो लोगो के मन में एक ऋणात्मक डिजिटल लैंडिंग की छवि उभरने लगती है.अब तक तो केवल (एक पाठक के अनुसार) लोगो को उत्पीडन करने ,जाली नोटिस भेजने,फ्रॉड करने ,contact में कालिंग करने जेसे आरोप लगे है लेकिन अब ऐसा आरोप लगा है जिसमें हमारे गृह मंत्रालय ,आर बी आई,फाइनेंस मंत्रालय,को स्वतः सज्ञान लेकर इस कंपनी के खिलाफ सख्त से सख्त कदम उठाने होंगे वरना आने दिनों में हमारे देश के लोगो को बहुत खामियाजा भुगतना होगा.

DCP North West Delhi के 24 नवम्बर 2020 को ट्विटर अकाउंट से एक ट्वीट किया गया है कि पी.एस. जहांगीरपुरी के के द्वारा दो लोगो शोहेब अख्तर और नासिबुल हक को गिरफ्तार किया गया है .जिसमे इन दोनों पर आरोप लगा है की ये दोनों CASHBEAN फाइनेंसियल एप्लीकेशन से डाटा लेकर लोगो को उनकीसोशल मीडिया से फोटो निकाल कर फोटोज की मोर्फिंग करके लोगो को डरा धमकाकर जबरन वसूली करने में लगे हुए थे. हलाकि जो गिरफ्तारी हुई है वो CASHBEAN की तरफ से शिकायत करने पर हुई है या ग्राहक की तरफ से शिकायत करने पर हुई है इसकी पुष्टि अभी तक नहीं हुई है.

यह एक बहुत ही गंभीर अपराध है. इस तरह के मामले मानहानि के क़ानूनी मामलो में आते है जहा पर कोर्ट केस करना अनिवार्य होगा और मानहानि के लिए कंपनी की प्रोफाइल के अनुसार उनका विक्टिम को उचित मुआवजा देना जरुरी होता है और साथ ही कंपनी पर क़ानूनी कार्यवाही की जाती है.

जितने लोगो के साथ CASHBEAN लैंडिंग एप्लीकेशन या फिर अन्य लैंडिंग एप्लीकेशन के माध्यम इस तरह की घटनाये हुयी है वो लोग इन लोगो पर कोर्ट केस करे .

पहले भी कई बार इस एप्लीकेशन के उपर इनके ग्राहकों के द्वारा चाइना की कंपनी होने और डाटा लीक करने को लेकर गंभीर आरोप लगाये गए है.(इस तरह के किसी आरोप की हम लोग सुनिश्चितता नहीं कर रहे है)

जिस तरह से DCP North West Delhi के द्वारा अपने ट्वीट में बताया गया है कि डाटा CASHBEAN फाइनेंसियल एप्लीकेशन से लिया गया है ,तो यह भी  सोचने की बात है कही डाटा लीक वाकई में तो नहीं हो रहा है ?

हम लोग बहुत ही जल्द कुछ बड़े खुलासे करेंगे जिसमे आप लोग सोचकर हेरान रह जाओगे .

CASHBEAN से जब हमारे द्वारा किसी ग्राहक के मामले में और एक कर्मचारी के मामले में बात की गयी ,हलाकि हमने कोई कॉल नहीं किया उनके कर्मचारी और ग्राहक के द्वारा हमसे सहायता मांगी गयी तो इनकी कंपनी की तरफ से कॉल आया था जिसमे इनके द्वारा हमे इनकी कंपनी के मामलो में बोलने के लिए मना कर दिया और यहाँ तक की मेरे उपर क़ानूनी कार्यवाही करने तक की धमकी दे डाली .इस आर्टिकल के माध्यम से हम इस तरह की  सभी कंपनियों को बता दे कि जो आर्टिकल हमारे द्वारा निकाला जाता है वो पुरे सबूतों के साथ निकाला जाता है . हालाँकि कि इस क़ानूनी कार्यवाही करने की धमकी के मामले में हमारी तरफ से क्या एक्शन लिया जा सकता है उसके लिए हमारी लीगल टीम से बात चल रही है और तुरंत ही कोई क़ानूनी कार्यवाही की जा सकती है .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *